story of smriti irani

आज 21वीं सदी में महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपने अस्तित्व को ना सिर्फ सिद्ध किया है बल्कि हर एक समाज को अपने होने का आभास भी कराया है। 

भारत सहित विश्व का कोई भी देश हो महिलाएं हर क्षेत्र में अपने कार्य की कुशलता से अपना स्थान बनाए हुए हैं। 

चाहें वो कला का क्षेत्र हो जिसमें, हस्तकला, नृत्यकला, वाद्यकला, संगीत कला, अभिनय कला आदि, राजनीति हो, उद्यम हो, खाद्य से लेकर खेल तक हर जगह सकारात्मक परिणामों सहित खुद को सिद्ध किया है। 

अभिनेत्री से नेत्री बनी एक ऐसी ही महिला की आज हम जीवन यात्रा को पढ़ेंगे जिन्होंने अभिनय किया तो घर घर में बहु की स्मृति में देखी जाने लगीं और राजनीति में प्रवेश किया तो महिलाओं की आवाज बनी, उनका नाम है श्रीमती स्मृति ज़ुबिन ईरानी। 

स्मृति ईरानी का जन्म, शिक्षा और आरंभिक जीवन 

स्मृति ईरानी का जन्म 23 मार्च 1976 को भारत की राजधानी दिल्ली में हुआ था। 

उनके पिता का नाम श्री अजय कुमार मल्होत्रा है और उनकी माता का नाम श्रीमती शिवानी बगीची है। 

स्मृति ईरानी ने राजधानी दिल्ली में रहकर शिक्षा ग्रहण की। स्मृति ईरानी ने महज 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद ही काम करना शुरू कर दिया था।

स्मृति ईरानी ने दिल्ली में हॉली चाइल्ड औकसिकिलियम स्कूल से अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई की।

स्मृति ईरानी ने सन 1998 में मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लिया, लेकिन वह जीत नहीं सकी थी। इसके बाद वह फिल्मों की नगरी मुंबई में गईं, वहां जाकर उन्होंने किस्मत आजमाई। 

स्मृति ईरानी के अभिनय कला की शुरुआत

स्मृति ईरानी ने मॉडल के रूप में अपने जीवन की शुरुआत की। वह 1998 में फेमिना मिस इंडिया सौंदर्य प्रतियोगिता के फाइनल में तो पहुंची लेकिन मिस इंडिया नहीं बन सकीं। 

स्मृति ईरानी ने सन 2000 में टेलीविजन सीरियल ‘हम कल आज कल और कल’ के साथ अपने करियर की शुरआत की। लेकिन उनको बतौर टीवी अभिनेत्री प्रसिद्धि और पहचान मिली जब उन्होंने ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ सीरियल के तुलसी नाम के किरदार को निभाया।

स्मृति ईरानी को टीवी अभिनेत्री के तौर पर अपने अभिनय कला के लिए कई पुरुस्कार से सम्मानित किया गया। जैसे भारतीय टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड, इंडियन टेली अवॉर्ड व स्टार परिवार अवॉर्ड जीत चुकी हैं। 

वर्ष 2001 में उन्होंने जीटीवी पर प्रसारित रामायण में माता सीता की भूमिका भी निभाई है। वर्ष 2006 में वह ‘थोड़ी सी जमीन और थोड़ा सा आसमान’ सीरियल में सह निदेशक के रूप में कार्यरत थीं। वर्ष 2008 में उन्होंने डांस पर आधारित टीवी सीरियल ‘ये है जलवा’ को साक्षी तंवर के साथ होस्ट किया था। 

यह भी पढ़ें- सुधा मूर्ति की जीवन कहानी

स्मृति ईरानी का राजनैतिक जीवन

जैसा कि हमने पढ़ा कि स्मृति ईरानी ने अपना करियर एक अभिनेत्री के तौर पर शुरू किया था। 

लेकिन अभिनय कौशल को छोड़ स्मृति ईरानी ने सन 2003 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सदस्यता ग्रहण कर अपना राजनैतिक करियर आरंभ किया। उन्होंने दिल्ली के चांदनी चौक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा। हालांकि वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल से हार गईं। 

वर्ष 2004 में इन्हें महाराष्ट्र विंग का उपाध्यक्ष बनाया गया। इन्हें पार्टी ने पांच बार केंद्रीय समिति के 3 कार्यकारी सदस्य के रूप में मनोनीत किया और राष्ट्रीय सचिव के रूप में नियुक्त किया। 

वर्ष 2010 में उन्हें भाजपा महिला मोर्चा की कमान सौंपी गई। वर्ष 2011 में वे गुजरात से राज्यसभा की सांसद चुनी गई। इसी वर्ष हिमांचल प्रदेश में महिला मोर्चा की कमान संभाली। 

साल 2014 में वह अमेठी लोकसभा सीट से राहुल गांधी के खिलाफ मैदान में उतरी, लेकिन इसमें भी उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इसके बावजूद वह लोगों के बीच जाती रहीं और 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी को अमेठी सीट से मात दी

इसके साथ ही स्मृति ईरानी वर्ष 2011 और 2017 में गुजरात से राज्यसभा सदस्य के रूप में चुनी गई। 

यह भी पढ़ें- भारतीय शास्त्रीय नृत्यांगना अभिनेत्री और कोरियोग्राफर रोशन कुमारी फकीर मोहम्मद की जीवनी

केंद्रीय मंत्री के रूप में स्मृति ईरानी का सफर 

स्मृति ईरानी मई 2014 से जुलाई 2016 तक केंद्रीय मानव संसाधन विकास जो अब शिक्षा मंत्रालय है मंत्री के रूप कार्य कर चुकी हैं। इसके बाद, उन्होंने जुलाई 2017 से मई 2018 तक सूचना और प्रसारण मंत्री का पदभार संभाला। इसके साथ ही जुलाई 2016 से जुलाई 2021 तक कपड़ा मंत्री के रूप में कार्य किया। 

वर्तमान में स्मृति ईरानी केंद्रीय कैबिनेट में शामिल हैं। वह केंद्रीय महिला एवं बाल विकास और अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री है। 

यह भी पढ़ें- जानिये पहली भारतीय लेखिका गीतांजलि श्री जिन्हें मिला है अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरूस्कार से सम्मान

स्मृति ईरानी का व्यक्तिगत जीवन

स्मृति ईरानी ने वर्ष 2001 में ज़ुबिन ईरानी से शादी की जो एक पारसी हैं। उनके दो बच्चे हैं – जोहर ईरानी, और जोइश ईरानी। 2001 में उन्हें एक बेटा हुआ, जिसका नाम ‘जौहर’ है।  स्मृति ईरानी और ज़ुबिन ईरानी से उन्हें एक बेटी हुई, जिसका नाम जोइश है। स्मृति ईरानी के पति ज़ुबिन ईरानी की पूर्व पत्नी मोना ईरानी से एक पुत्री शेनियल भी है जिसका ख्याल स्मृति ईरानी मां के रूप में बखूबी निभा रही हैं। 

यह भी पढ़ें- पदमश्री(2022) से सम्मानित अभिनेत्री सोकर जानकी का जीवन परिचय

पुरस्कार व उपलब्धियां

  • वर्ष 2001 में भारतीय टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार नाटक के लिए  
  • वर्ष 2002 में भारतीय टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार नाटक के लिए 
  • वर्ष 2002 इंडियन टेली अवॉर्ड
  • वर्ष 2003 सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए इंडियन टेली अवॉर्ड 
  • वर्ष 2003 स्टार परिवार अवॉर्ड पसंदीदा बहु और पत्नी के लिए
  • वर्ष 2004 भारतीय टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार नाटक के लिए (लोकप्रिय)
  • वर्ष 2004 स्टार परिवार अवॉर्ड पसंदीदा मां और सास के लिए
  • वर्ष 2005 भारतीय टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार नाटक के लिए (लोकप्रिय)
  • वर्ष 2005 स्टार परिवार अवॉर्ड पसंदीदा सास के लिए
  • वर्ष 2005 महिला अचीवर अवॉर्ड सबसे अच्छा घर निर्माता पुरस्कार
  • वर्ष 2006 स्टार परिवार अवॉर्ड पसंदीदा सास के लिए
  • वर्ष 2006 ज्यूरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए इंडियन टेली अवॉर्ड
  • वर्ष 2007 स्टार परिवार अवॉर्ड पसंदीदा सास के लिए
  • वर्ष 2007 ज़ी अस्तित्व पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ टीवी व्यक्तित्व के लिए
  • वर्ष 2008 स्टार परिवार अवॉर्ड 
  • वर्ष 2009 गुजराती स्टेज पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री 
  • वर्ष 2010 भारतीय टेलीविजन अकादमी पुरस्कार 
  • वर्ष 2014 गर्व भारतीय टीवी पुरस्कार बेस्ट टीवी दशक के व्यक्तित्व

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *